July 16, 2024

आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ प्रदेश उपाध्यक्ष अनुराग ढांडा ने प्रेसवार्ता कर बीजेपी सरकार द्वारा शंभू बॉर्डर को बंद रखने और युवा किसान नेता नवदीप को झूठे केस लगाकर गिरफ्तार करने के मुद्दे पर बीजेपी सरकार को घेरा।

इस दौरान उनके साथ अंबाला के जिला अध्यक्ष करणवीर सिंह लौट और रोहित जैन मौजूद रहे। उन्होंने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री और मौजूदा केंद्रीय मंत्री मनोहर लाल खट्टर के इशारे पर जानबूझ कर जो किसान दिल्ली जा रहे थे उनको रोका गया था।

उनके रास्ते को न केवल बाधित किया गया बल्कि बीजेपी सरकार ने किसानों पर आंसू गैस के गोले दागे, लाठियां बरसाई और सरकार ने कुछ किसानों की जान भी ली। इसके अलावा सरकार की लाठीचार्ज में बहुत से किसान घायल भी हुए।

उन्होंने कहा कि सरकार ने किसानों के आंदोलन को दबाने के लिए जानबूझकर किसान नेताओं को शिकार बनाया। उन पर तरह तरह के आरोप लगाए और जेल में डाला। अंबाला का भी युवा किसान नेता नवदीप तीन महीने से ज्यादा समय हो गया जेल में है। उनका कसूर केवल इतना है कि जब भी किसान अपने हकों के लिए लड़ते हैं तो नवदीप उसमें अग्रणी रहते हैं।

नवदीप सिंह किसी भी हिंसक गतिविधि में नहीं था जिससे कोई आरोप दिखाई देता हो, ऐसा पूरे आंदोलन में कहीं नजर नहीं आया। लेकिन एक साजिश के तहत पूरी किसान लीडरशिप पर झूठे केस लगाकर उनको जेल में रखा गया और उन पर अत्याचार किया गया।

उन्होंने कहा कि बहुत सारे किसानों की जमानत हो चुकी है, लेकिन नवदीप को जानबूझकर टारगेट किया जा रहा है। क्योंकि वो किसानों की एक बुलंद आवाज है। उसको दबाने के लिए सरकार द्वारा ये अत्याचार किया जा रहा है।

वहीं दूसरी तरफ शंभू बॉर्डर पर सरकार ने जो अघोषित आपातकाल लगा रखा है उसके शंभू बॉर्डर को अनावश्यक रूप से बंद करके रखा गया है। उससे शहर और प्रदेश का लोगों को दिक्कत का सामना करना पड़ रहा है।

किसान पिछले 5 महीने से अपनी मांग को लेकर शांतिपूर्ण तरीके से बैठे हुए हैं, उनको दिल्ली नहीं जाने दिया जा रहा। जबकि उनका हरियाणा सरकार के साथ कोई टकराव नहीं है।

उन्होंने कहा कि किसानों का हरियाणा सरकार के खिलाफ कोई आंदोलन नहीं है, वो बस दिल्ली जाना चाहते हैं। लेकिन हरियाणा की बीजेपी सरकार न केवल उनको रोके हुए है बल्कि किसान, मजदूर, व्यापारी और आम आदमी को परेशान करने की साजिश रची हुई है।

बीजेपी सरकार द्वारा इस बॉर्डर को बंद करके आम जनता और व्यापारी का नुकसान कराया गया और एनएचआई का रोजाना 72 लाख रुपए का नुकसान हो रहा है। पुलिस की अनावश्यक कार्रवाई से अब तक एनएचआई का 100 करोड़ रुपए से ज्यादा का नुकसान हो चुका है और शंभू बॉर्डर बंद होने से अंबाला और आसपास का व्यापार ठप पड़ा है।

उन्होंने कहा कि शंभू बॉर्डर बंद होने से सरकारी बड़े वाहनों का डायवर्जन हुआ जिसकी वजह से ज्यादा तेल की खपत हुई और लाखों करोड़ों रुपए का नुकसान हुआ। अस्पताल पहुंचने में एंबुलेंस और मरीज को भी दिक्कत होती है।

यदि इन सभी दिक्कतों को देखें तो शंभू बॉर्डर पर पुलिस द्वारा बेरीकेडिंग लगाने से किसी को फायदा नहीं हुआ। इससे किसान, व्यापारी व आम जनता भी परेशान हुई है और सरकार की भी किरकिरी हो रही है।

उन्होंने कहा कि बीजेपी सरकार ने एक राजनीतिक साजिश के तहत अरविंद केजरीवाल को राजनीतिक कैदी बनाकर जेल में डाल रखा है। इसलिए आम आदमी पार्टी इन भावनाओं को समझती है। इसलिए आम आदमी पार्टी इस मुश्किल वक्त में नवदीप और सभी किसानों के साथ खड़ी है।

इसके साथ ही आम आदमी पार्टी व्यापारी वर्ग और उस जनता के साथ खड़ी है जो शंभू बॉर्डर पर सरकार द्वारा आवश्यक रूप से लगाए गए गतिरोध से परेशान हैं। आम आदमी पार्टी बीजेपी सरकार से मांग करती है कि राजनीतिक द्वेष छोड़कर किसान नेताओं को तुरंत जेल से बाहर निकले।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *