July 16, 2024

उपायुक्त कैप्टन मनोज कुमार ने शिक्षा विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि वह स्कूली बच्चों को ड्रग्स के बारे में जागरूक करें। उन्हें ड्रग्स से होने वाले नुकसान की विडियों दिखाए ताकि नशे माफिया युवाओं को अपनी गिरफ्त में न ले सके।

उपायुक्त सोमवार को जिला सचिवालय के सभागार में मुख्य सचिव द्वारा विडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से राज्य स्तरीय नार्को कोर्डिनेशन की बैठक का आयोजन किया गया।  बैठक में मुख्य सचिव ने कहा कि स्कूलों में नशे का प्रकोप ज्यादा बढ़ रहा है।

उन्होंने इस पर अंकुश लगाने के लिए काम करने के निर्देश दिए और कहा कि जमीन पर काम होना चाहिए।  उन्होंने कहा कि 12 अगस्त को अंतरराष्ट्रीय युवा दिवस है इस दिवस पर कुछ काम करके दिखाना होगा।

कुमार ने स्थानीय अधिकारियों से बातचीत की। इस मौके पर जागरूकता लघु फिल्म भी दिखाई  गई। उन्होंने कहा कि जिले में ड्रग्स माफिया काफी सक्रिय हो रहे है। इन ड्रग्स माफियाओं पर पुलिस द्वारा काफी शिकंजा कसा है फिर भी यह लोग कहीं न कहीं अपने कार्य में सफल हो रहे है।

अब हमे युवा वर्ग को इन ड्रग्स माफियाओं से बचाना है। इसके लिए जरूरी है स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों को ड्रग्स से होने वाली हानियों के बारे में जानकारी दें तभी यह युवा जानलेवा नशे से दूर रहेंगे। उन्होंने यह भी कहा कि प्राइवेट स्कूलों के बच्चों को भी अधिक से अधिक खेल व मनोरंजन की गतिविधियों से जोड़े ताकि उनका मन भी व्यस्त रह सकें।

उपायुक्त ने खेल अधिकारी को निर्देश दिए कि जिले में जो भी व्यक्ति नशे का आदि है, उसको पुलिस द्वारा चयनित किया गया है। ऐसे लोगों को नशे से दूर करने के लिए एक ही माध्यम है कि हम उन्हें कुछ समय के लिए खेलों से जोड़े ताकि उनका मन नशे से दूर होने लगे। उपायुक्त ने सिविल सर्जन को कहा कि वह नशे की लत के लोगों के इलाज के लिए व्यवस्था बनाए, डॉक्टरों की कमी है तो इसके लिए मुख्यालय को लिखे।

बैठक में पुलिस अधीक्षक गंगाराम पूनिया ने कहा कि नशे का कारोबार करने वाले लोगों पर पुलिस द्वारा लगातार कार्यवाही की जा रही है। इस समस्या से निजात दिलाने के लिए समाज के सभी वर्गों के सहयोग की जरूरत है।

जो भी ड्रग्स का कारोबार करता हुआ मिले उसकी सूचना भी तुरंत पुलिस को दें। जिस विभाग की जो भी ड्यूटी है उस विभाग के अधिकारी भी अपना कार्य निष्ठा से निभाएं तभी हम इस समस्या से निजात पा सकते है।

इस मौके पर एसडीएम सोनू राम, एसडीएम रादौर जय प्रकाश,  एसडीएम बिलासपुर देवेन्द्र शर्मा, एसडीएम छछरौली राजेश पूनिया, जेल अधीक्षक विशाल छिब्बर,सीएमओ डॉ. मनजीत सिंह, डॉ. बुलबुल कटारिया, डीएसपी राजेश कुमार, डीईओ सुमन बहमनी, डीएसओ शिल्पा गुप्ता सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *